Conrgess Chintan Shivir: नव संकल्प चिंतन शिविर आज से होगा शुरु, राहुल-प्रियंका पहुंचे उदयपुर

Conrgess Chintan Shivir: नव संकल्प चिंतन शिविर आज से होगा शुरु, राहुल-प्रियंका पहुंचे उदयपुर
-5264283304557104" crossorigin="anonymous">

आज से उदयपुर में कांग्रेस पार्टी के 3 दिवसीय नव संकल्प चिंतन शिविर का आगाज हो रहा है। इस शिविर को लेकर तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। राहुल गांधी और प्रियंका गांधी भी उदयपुर पहुंच चुके हैं। जबकि पार्टी की अध्यक्षा सोनिया गांधी आज यहां आने वाली है। आयोजन स्थल पर तीन दिनों में छह अलग-अलग प्रस्तावों पर होने वाले मंथन के लिए अलग-अलग डोम तैयार किए गए हैं।

उदयपुर शहर में प्रवेश से लेकर आयोजन स्थल तक कांग्रेसी नेताओं के होर्डिंग-बैनर और कांग्रेस के झंडे चारो ओर लगे हुए हैं। आपको बता दें तीन दिन तक कांग्रेस के देशभर के दिग्गज और बड़े नेताओं के साथ युवा नेताओं की एक बड़ी टीम यहां उपस्थित रहने वाली है। लिहाजा कड़ी सुरक्षा के बीच यहां चाकचौबंद बंदोबस्त किए गए हैं।

नव संकल्प शिविर में भाग लेने के लिए कल ही पार्टी के कई वरिष्ठ नेता उदयपुर पहुंच गए थे। इस दौरान महाराणा प्रताप एयरपोर्ट पर तमाम नेताओं का पार्टी पदाधिकारियों ने मेवाड़ी परंपरा के अनुसार स्वागत किया। वीरप्पा मोइली, मलिकार्जुन खड़गे, रणदीप सुरजेवाला सहित कई वरिष्ठ नेता यहां पहुंचे है। वहीं, देर शाम को गुलाम नबी आजाद, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, मनीष तिवारी, आचार्य प्रमोद कृष्णन, शशि थरूर, नगमा, डीके शिवकुमार, सलमान खुर्शीद सहित अन्य कई वरिष्ठ नेता भी उदयपुर पहुंचे।

इस दौरान सभी नेताओं ने मीडिया से बात करते हुए उदयपुर में आयोजित होने वाले नव संकल्प शिविर पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि इस शिविर में होने वाले मंथन से पार्टी को एक नई ऊर्जा मिलेगी। जिसके बाद आने वाले समय मे पार्टी एक नई जोश और शक्ति के साथ काम करने के लिए लोगों के बीच में जाएगी। वहीं, पार्टी में होने वाले बदलाव पर नेताओं ने ये कहा है कि इन्हीं तमाम मुद्धों पर चर्चा करने के लिए इस नव संकल्प शिविर का आयोजन किया गया है।

आपको बता दें कि देश भर से पार्टी के 422 प्रमुख नेता पार्टी की मजबूती के लिए इस शिविर में मंथन करेंगे। इन नेताओं में एआईसीसी के सभी पदाधिकारी, यूथ कांग्रेस, महिला कांग्रेस, एनएसयूआई और सेवा दल के राष्ट्रीय पदाधिकारी, सभी राज्यों के पीसीसी चीफ, कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, विधायक दल के नेता और यूपीए सरकार में मंत्री रहे चेहरे भी शामिल होंगे।