Alwar Case Update: मूकबधिर नाबालिग से नहीं हुआ था रेप, Zomato डिलीवरी बॉय ने मारी थी टक्कर

Alwar Case Update: मूकबधिर नाबालिग से नहीं हुआ था रेप, Zomato डिलीवरी बॉय ने मारी थी टक्कर
-5264283304557104" crossorigin="anonymous">

khabarexpo : अलवर में मूक-बधिर से रेप के मामले में एक नया मोड़ सामने आया है। नाबालिग लड़की के साथ रेप नहीं हुआ था। बल्कि युवती बाइक की टक्कर से नीचे गिर गई थी, जिससे उसे गहरी चोट आई थी।

सुत्रों के मुताबिक Zomatoबाइक सवार एक युवक ने युवती को टक्कर मार दी थी, पुलिस ने 70 से अधिक Zomatoचालकों से पूछताछ की है, जिसमें 1 Zomatoबाइक सवार ने टक्कर मारने की बात स्वीकार किया है। फिलहाल बाइक सवार से पुलिस की पूछताछ जारी है, हालांकि पुलिस अधिकारियों की ओर से इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है। सीबीआई जांच शुरू होने से पहले राजस्थान पुलिस खुलासा कर सकती है।

मेडिकल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं

आपको बता दें कि 11 जनवरी की रात 8 बजे अलवर में एक मूक-बधिर लड़की से हैवानियत की गई थी, गंभीर हालत में बच्ची को जयपुर के जे के लोन अस्पताल में भर्ती कराया गया था, पीड़िता के प्राइवेट पार्ट्स में गंभीर चोट पहुंचाई गई थी, अगले दिन डॉक्टरों ने चार घंटों तक बच्ची का ऑपरेशन किया था। ऑपरेशन के बाद डॉक्टरों ने कहा था कि बच्ची के साथ बर्बरता पूर्वक व्यावहार किया गया। बच्ची के प्राइवेट पार्ट्स को बुरी तरह क्षतिग्रस्त किया गया है, जिससे काफी ब्लिडिंग हुई थी। लड़की के साथ किस तरह की बर्बरता हुई होगी, इसका अंदाजा आप खुद ही लगा सकते हैं कि डॉक्टरों ने कहा कि भगवान न करे ऐसा ऑपरेशन भविष्य में किया जाए। हालांकि, डॉक्टरों ने इस दौरान रेप की पुष्टि नहीं की।

गौरतलब है कि इस मामले को लेकर बीजेपी राज्य सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रही है। बीजेपी ने पूरे राज्य में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर सीबीआई जांच की मांग की थी, जिस पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सीबीआई जांच की मंजूरी दे दी है। लेकिन सीबीआई जांच से पहले ही राजस्थान पुलिस इस मामले में एक बड़ा खुलासा करने जा रही है।

मंत्री ममता भूपेश

इस मामले पर बढ़ती राजनीति को लेकर महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश का कहना है कि इस मामले पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। पूरा मामला सीबीआई को सौंप दिया गया है, फिर भी विपक्ष राजनीति क्यों कर रहा है। इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पूरी तरह से गंभीर हैं। वे पहले दिन से ही मामले को लेकर तत्परता दिखा रहे हैं। सीएम ने खुद गंभीरता दिखाते हुए मामले को सीबीआई को सौंप दिया, इसके बावजूद राजनीति करना अच्छा नहीं है। हम सबको मिलकर साथ चलना होगा, सभी को साथ लेकर चलने की जरूरत है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.