हनीट्रैप: पाक एंजेट्स के हुस्न जाल में फंसा भारतीय जवान, व्हाट्सप पर शेयर कर दी देश की ये खुफिया जानकारियां

हनीट्रैप: पाक एंजेट्स के हुस्न जाल में फंसा भारतीय जवान, व्हाट्सप पर शेयर कर दी देश की ये खुफिया जानकारियां
-5264283304557104" crossorigin="anonymous">

Khabarexpo: पाकिस्तानी महिला एजेंट्स द्वारा भारतीय सेना के जवानों को हनी ट्रैप में फंसा कर खुफिया जानकारी हांसील करने के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। राजस्थान में तैनात एक सेना के जवान पर आरोप लगा है की उसने पाकिस्तानी महिला एजेंट्स के हनी ट्रैप में फंसकर कई गोपनीय जानकारीयां लीक की है। पाकिस्तानी महिला एजेंट इसके बदले में आरोपी जवान शांतिमय राणा को रुपए भी देती थी।

पश्चिम बंगाल के बागुंडा जिला निवासी शांतिमय राणा (24) को राजस्थान पुलिस की इंटेलिजेंस विंग ने गिरफ्तार किया है। जवान वर्तमान में जयपुर में अर्टलरी यूनिट में तैनात था। इंटेलिजेंस विंग के डायरेक्टर जनरल उमेश मिश्रा के बताया की गुरनौर कौर उर्फ अंकिता और निशा नामक पाकिस्तानी एजेंट्स ने सोशल मीडिया के माध्यम से जवान को पहले दोस्ती के जाल में फंसाया और फिर उससे कई गोपनीय जानकारीयां हासिल की। दोनों पाकिस्तानी एजेंट्स ने जवान का भरोसा जीत कर उससे वाट्सअप के जरिये बातचीत स्टार्ट कर दी। महिलाओं ने खुफिया जानकारी के बदले कई बार जवान के अकाउंट में पैसे भी ट्रांसफर किए थे।

हनी ट्रैप के शिकार जवान ने बताया

हनी ट्रैप के शिकार जवान शांतिमय राणा ने बताया कि एक महिला ने खुद को शाहजहांपुर (यूपी) निवासी बताते हुये कहा कि वो शाहजहांपुर में ही मिलिट्री  इंजीनियरिंग सर्विसेस में कार्यरत है। जबकि दूसरी महिला निशा ने खुद के लिए बताया कि वो मिलिट्री नर्सिंग सर्विस में काम करती है।

दोनों एजेंट्स ने कई तरह के लालच देकर फोटोग्राफ्स, गोपनीय दस्तावेज और युद्धाभ्यास के वीडियो वाट्सअप पर शेयर करवा लिए।