जानिए क्या होते हैं कोरोना के RT-PCR और रैपिड एंटीजन टेस्ट, कौनसा है बेहतर

जानिए क्या होते हैं कोरोना के RT-PCR और रैपिड एंटीजन टेस्ट, कौनसा है बेहतर
-5264283304557104" crossorigin="anonymous">

Khabarexpo: कोविड19 संक्रमण की जांच के लिए दुनिया भर में कई तरह के टेस्ट के विकल्प सामने आये हैं। फिलहाल देश में दो टेस्ट रैपिड एंटीजन टेस्ट और आरटी-पीसीआर टेस्ट का प्रयोग सबसे ज्यादा किया जा रहा है। मेडिकल एक्सपर्ट्स डॉ. राहुल अहलुवालिया बताते है की ये दोनों टेस्ट सौ फीसदी सटीक नहीं होते हैं। दोनों टेस्ट की तुलना की जाए तो आरटी-पीसीआर टेस्ट को एक्सपर्ट्स ज्यादा विश्वसनीय मानते हैं। एंटीजन टेस्ट की रिपोर्ट की बात करें तो इसमें 15 से 30 मिनट का समय लगता है। जबकि आरटीपीसीआर टेस्ट की रिपोर्ट में छह से आठ घंटे तक का समय लगता है।

RT-PCR टेस्ट क्या होता है
आरटी-पीसीआर टेस्ट का पूरा नाम ‘रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन पॉलिमियर्स चेन रिएक्शन’ होता है। यह टेस्ट व्यक्ति के शरीर में वायरस का पता लगता है। इसके सैंपल्स के लिए नाक और गले से म्यूकोजा के अंदर वाली परत से स्वैब लिया जाता है। डबल्यूएचओ ने आरटी-पीसीआर टेस्ट को अधिक भरोसेमंद माना हैं। लेकिन दूसरे और टेस्ट की तरह यह भी पूर्ण नहीं माना गया है।

रैपिड एंटीजन टेस्ट क्या होता है
डॉ. राहुल अहलुवालिया के मुताबिक बाहरी वातवरण से जब कोई बैक्टीरिया मानव शरीर में दाखिल होता है तो उसे एंटीजन कहा जाता है। RAT के नतीजे 15 से 30 मिनट में ही आ जाते हैं। RAT में यदि व्यक्ति की रिपोर्ट निगेटिव आती है तो उसे फाइनल नहीं माना जाता लेकिन यदि एंटीजन टेस्ट में व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव रहती है तो उसे संक्रमित मान लिया जाता है।

एंटीजन टेस्टिंग के दौरान व्यक्ति की नाक के दोनों तरफ से फ्लूइड का सैंपल क्लेक्ट किया जाता है। स्ट्रिप पर यदि एक रेड लाइन आई मतलब रिपोर्ट निगेटिव है। स्ट्रिप पर यदि दो रेड लाइन दिखती है तो व्यक्ति पॉज़िटिव माना जाता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.