महाराष्ट्र में लगेगा लॉकडाउन! उप मुख्यमंत्री ने कही ये बड़ी बात

महाराष्ट्र में लगेगा लॉकडाउन! उप मुख्यमंत्री ने कही ये बड़ी बात
-5264283304557104" crossorigin="anonymous">

khabarexpo: देश के सभी राज्य कोरोना के बड़े आकड़ों को देखते हुए परेशान है। फिर से एक बार स्कूलों कॉलेजों को बंद करने के फरमान जारी कर दिए है। कई राज्यो में स्कूले भी बंद हो चुकी है। महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम अजीत पवार ने सरकार को दो दिन में फैसला लेने की बात कही है। उन्होने ने कोरोना के बढ़ते मामलो को देखते हुए कहा है कि ममता बेनर्जी ने भी पश्चिम बंगाल की सीएम होते हुए लॉकडाउन लगाया है।

वही सोमवार को पवार ने सातारा में मीडिया से बताया कि कोरोना इसी प्रकार बढ़ता रहा, तो प्रदेश सरकार को सख्त फैसले लेने ही होंगे। इस सिलसिले में सीएम जो फैसले लेंगे, वे प्रदेश के सभी हिस्सों में लागू किए जाएंगे। लोग खाना खाते समय, चाय वगैरह पीते समय चेहरे से मास्क हटाते हैं। एक-दूसरे के सामने आते हैं। इससे कोरोना वायरस रफ़्तार से बढ़ रहा है। ऐसे में इसे टालने के लिए कोई प्रभावी उपाय की आवश्यकता है। उन्होंने बताया कि नेताओं को भी नियमों का पालन करना आवश्यक है। यदि हम ही नियमों की अनदेखी करेंगे, तो बाकियों से नियम पालने का आग्रह करने का कोई अर्थ नहीं है।

मुंबई में बढ़ते आँकड़े को देखते हुए विजय वडेट्टीवार ने लोकल सेवा को लेकर जल्द ही सख्त फैसले लेने के संकेत दिए हैं। मुंबई लोकल की भीड़ को लेकर सीएम गंभीर हैं। उन्होंने पश्चिम बंगाल की भांति ही मिनी लॉकडाउन लगाने की बात कही। उन्होंने बताया कि पश्चिम बंगाल में स्कूल, कॉलेज बंद करने का फैसला लिया गया है। यहां भी कोरोना एवं ओमीक्रोन वेरिएंट रफ़्तार से बढ़ने का कारण वैसे ही हालात उत्पन्न हो रहे है। सीएम से इस बारे में चर्चा भी हुई है। आखिरी फैसले वही लेंगे। एक विकल्प यह हो सकता है कि प्रदेश के कुछ ठिकानों को कंटेनमेंट जोन घोषित कर वहां प्रवेश बंदी लागू की जाए। भीड़ को पूरी कठोरता से नियंत्रित किया जाए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.