ACB की बड़ी कार्रवाई: नगर निगम ग्रेटर के वित्तीय सलाहकार और दो दलालों को किया गिरफ्तार

ACB की बड़ी कार्रवाई: नगर निगम ग्रेटर के वित्तीय सलाहकार और दो दलालों को किया गिरफ्तार
-5264283304557104" crossorigin="anonymous">

khabarexpo : नगर निगम ग्रेटर जयपुर में टेंडर दिए किए जाने के काम के निरीक्षण, माप एवं बिल अग्रेषण, निविदाओं के भुगतान के लिए संबंधित फर्म/ठेकेदारों से कमीशन रिश्वत लेने के आरोप में ग्रेटर जयपुर के वित्तीय सलाहकार एवं दो दलालों को गिरफ्तार हुए है।

अचलेश्वर मीणा वित्तीय सलाहकार और दो दलाल धनकुमार जैन, अनिल अग्रवाल को फर्मों को नगर निगम ग्रेटर के टेंडर प्रदान किये जाने से लेकर कार्य के निरीक्षण माप तथा बिल प्रेषित एवं भुगतान किये जाने की एवज में रिश्वत आदान-प्रदान करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया।

धनकुमार जैन के घर से 27 लाख रुपये नकद मिले हैं। इसके साथ ही जमीन के दस्तावेज भी मिले हैं। एफए अचलेश्वर मीणा के आवास से संपत्ति के दस्तावेज मिले हैं। ठेकेदार नगर निगम के अधिकारियों के लिए वसूली करते थे।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में कार्रवाई

उक्त दलालों से नगर निगम ग्रेटर के टेंडर के निरीक्षण, माप एवं बिल अग्रेषण एवं कार्य के भुगतान के लिए संबंधित फर्म/ठेकेदारों से कमीशन के रूप में रिश्वत की राशि की मांग की गयी थी।

एसीबी के अतिरिक्त महानिदेशक दिनेश एमएन के निर्देशन में आरोपी से पूछताछ जारी है। एसीबी द्वारा मामले में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर अग्रिम शोध किया जाएगा।

एसीबी के महानिदेशक भगवान लाल सोनी ने भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1064 और व्हाट्सएप हेल्पलाइन नंबर 9413502834 24X7 पर संपर्क कर भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान में राज्य के सभी लोगों से महत्वपूर्ण योगदान देने की अपील की है। एसीबी आपके वैध को करवाने में पूरी मदद करेगी।

गौरतलब है कि एसीबी राजस्थान राज्य के कर्मचारियों के साथ-साथ केंद्र सरकार के कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए अधिकृत है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.