ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे में शिवलिंग मिलने के दावे को मुस्लिम पक्ष ने नकारा, मामले में आया ये नया मोड़

ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे में शिवलिंग मिलने के दावे को मुस्लिम पक्ष ने नकारा, मामले में आया ये नया मोड़
-5264283304557104" crossorigin="anonymous">

ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे में शिवलिंग मिला या नहीं इसको लेकर अलग-अलग दावे किए जा रहे हैं। ताजा दावा मुस्लिम पक्ष की तरफ से ये किया जा रहा है, उनका कहना है कि सर्वे में कोई शिवलिंग नहीं मिला है। इससे पहले आखिरी दिन का सर्वे पूरा होने के बाद हिंदू पक्ष ने ये दावा किया था कि ज्ञानवापी मस्जिद में मौजूद तालाब रूपी कुएं में शिवलिंग मिला है। इसके बाद वहां ‘हर हर महादेव’ के नारे लगने शुरु हो गए थे।

आपको बता दें कि हिंदू पक्ष के वकील विष्णु जैन ने ये कहा था कि कुएं के अंदर सर्वे के दौरान शिवलिंग मिला है। विष्णु जैन ने आगे ये भी कहा कि अब वे शिवलिंग की प्रोटेक्शन लेने के लिए सिविल कोर्ट जा रहे हैं। 

वहीं हिंदू पक्ष की तरफ से सोहनलाल ने ये कहा कि मस्जिद में बाबा मिल गए। वही बाबा जिनकी नंदी प्रतीक्षा कर रहे थे। सोहनलाल ने मीडिया के सामने आगे कहा कि जैसे ही मस्जिद परिसर में शिवलिंग मिला वहां हर हर महादेव के नारे लगने लगे। लोग खुशी से नाचने तक लगे थे। सोहनलाल ने यह भी कहा है कि अब पश्चिमी दीवार के पास जो मलबा है उसकी जांच की मांग उठाई जाएगी।

वहीं कुएं वाली बात पर सवाल पूछे जाने पर हिंदू पक्ष की तरफ से ही मोहन यादव ने कहा था कि ज्ञानवापी में वजूखाने या तालाब में 12 फीट 8 इंच व्यास का शिवलिंग मिला है जो अंदर काफी गहरा हो सकता है। कहा जा रहा है कि इस शिवलिंग का मुंह नंदी की तरफ है और वजूखाने का पूरा पानी निकालकर इसे देखा गया था। 

सुप्रीम कोर्ट पहुंचा ज्ञानवापी का मामला 

विवाद के बीच ज्ञानवापी मस्जिद का मामला सुप्रीम कोर्ट भी पहुंच गया है। कल दोपहर 1 बजे करीब जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ और पीएस नरसिम्हा की बेंच इसपर सुनवाई कर सकती है। मस्जिद की कमेटी ने सर्वे और कोर्ट कमिश्नर की नियुक्ति पर सवाल उठाए हैं।