अब विवाहित बेटियों को भी मिल सकेगी अनुकंपा नियुक्ति, CM गहलोत ने जारी किए ये महत्वपूर्ण आदेश

अब विवाहित बेटियों को भी मिल सकेगी अनुकंपा नियुक्ति, CM गहलोत ने जारी किए ये महत्वपूर्ण आदेश
-5264283304557104" crossorigin="anonymous">

Khabarexpo : राजस्थान (Rajasthan Cabinet Decisions) की राजधानी जयपुर (jaipur) में गहलोत कैबिनेट (Gehlot Cabinet) की बीते कल अहम बैठक हुई। जिसमे कई महत्वपूर्ण प्रस्तावों पर मुहर लगी है। आम जनता को राहत देने के लिए पर्यटन, राजस्व, किसान कल्याण और उच्च शिक्षा के साथ ही विभिन्न सेवा नियमों में संशोधन से जुड़े कई निर्णय लिए गए हैं। बैठक में 2 अक्टूबर से शुरू होने जा रहे प्रशासन गांवों के संग और प्रशासन शहरों के संग अभियान पर भी चर्चा की गई। सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने सभी विभागों के अधिकारियों से जानकारी ली।

आपको बता दें कि 2 अक्टूबर को आयोजित होने वाले राज्य स्तरीय कार्यक्रम में सभी मंत्री उपस्थित रहेंगे। और 4 अक्टूबर को सभी मंत्री अपने विधानसभा क्षेत्रों में जाएंगे। जबकि 5, 6 और 7 अक्टूबर को अपने प्रभार वाले जिलों में आयोजित हो रहे ब्लॉक स्तरीय शिविरों का निरीक्षण करेंगे।

बैठक में लिए गए अहम फैसले

– कृषक कल्याण कोष (Farmers Welfare Fund) के लिए 500 करोड़ का अतिरिक्त दीर्घकालिक ऋण लिया जाएगा

– बैंक ऑफ इण्डिया से 500 करोड़ रुपए का अतिरिक्त दीर्घकालिक ऋण (long term loan) लेने की मंजूरी

–  अनुकम्पा नियुक्ति (Compassionate appointment) के लिए आश्रितों का दायरा बढ़ाया

– कोई आश्रित नहीं होने की स्थिति में विवाहित पुत्री को मिल सकेगी अनुकम्पात्मक नियुक्ति

–  विभिन्न सेवा एवं पेंशन नियमों (pension rules) में संशोधन को मंजूरी दी गई

– बाल अधिकार संरक्षण (child rights protection) आयोग (संशोधन) नियम-2021 का अनुमोदन किया गया

– आयोग के अध्यक्ष और सदस्य चयन में अधिक स्पष्टता और पारदर्शित आएगी

–  एकल महिलाओं के बच्चों को मिल सकेंगे जाति और आय प्रमाण पत्र

– मुख्यमंत्री पर्यटन उद्योग संबल योजना का किया गया अनुमोदन

– शांति एवं अहिंसा निदेशालय का होगा गठन

– स्व. विजय सिंह पथिक के नाम पर होगा राजकीय महाविद्यालय बिजौलिया का नाम

– बीकानेर में एनटीपीसी को सोलर प्रोजेक्ट के लिए जमीन आवंटन को मंजूरी

मंत्रिपरिषद की बैठक

प्रशासन गांवों के संग (Administration campaigns with villages) और प्रशासन शहरों के संग अभियान (Administration campaigns with cities) के जरिए प्रदेश के लाखों लोगों को राहत मिलेगी। बैठक में नगरीय और ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को पट्टे, पेंशन, और विभिन्न प्रमाण पत्रों के साथ ही अन्य समस्याओं के निराकरण को लेकर बैठक में चर्चा की गई। मंत्रिपरिषद की बैठक में किए गए फैंसलों से किसानों, महिलाओं, पेंशनर्स और कार्मिकों के साथ ही आम लोगों को बड़े स्तर पर फायदा मिलेगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.