निर्दयी मां-बाप ने दिल दहला देने वाली घटना को दिया अंजाम, अपने ही बच्चे को दो साल तक 20 कुत्तों के साथ किया बंद

निर्दयी मां-बाप ने दिल दहला देने वाली घटना को दिया अंजाम, अपने ही बच्चे को दो साल तक 20 कुत्तों के साथ किया बंद
-5264283304557104" crossorigin="anonymous">

महाराष्ट्र के पुणे में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है, जहां 11 साल के एक बच्चे को दो साल से उसके मां-बाप ने 20 कुत्तों के साथ कमरे में बंद कर दिया। बच्चे को एक NGO की मदद से पुलिस ने रेस्क्यू किया है और उसके मां-बाप के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

पुलिस ने किया बच्चे का रेस्क्यू

पुलिस ने बताया कि आरोपी माता-पिता के खिलाफ बाल न्याय अधिनियम-2000 के तहत मामला दर्ज किया गया है। दरअसल एक एनजीओ की मदद से लड़के को घर से बाहर निकाला गया। जबकि अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई है।

मां-बाप ने बच्चे को रखा कुत्तों के साथ

एक एनजीओ चाइल्डलाइन के वॉलिंटियर ने पुलिस को ये बताया कि पुणे के कोंढवा इलाके में एक फ्लैट के अंदर एक 11 साल के बच्चे को 20 से 22 कुत्तों के साथ रहने के लिए मजबूर किया जा रहा है। शिकायतकर्ता ने कहा कि जब वो 5 मई को उस फ्लैट में गया तो उसने देखा कि वहां एक बच्चा कुत्तों के साथ खिड़की पर बैठा है। इस दौरान घर के अंदर से बदबू भी आ रही थी।

NGO की मदद से की शिकायत

शिकायतकर्ता ने जब बच्चे के माता-पिता से बात की तो पता चला कि बच्चा स्कूल नहीं जाता था। इसके बाद शिकायतकर्ता ने बच्चे के माता-पिता को कुत्तों के साथ न रखने की सलाह देते हुए स्कूल में एडमिशन कराने की बात कही। लेकिन बच्चे के परिवार वालों ने उनकी बात पर गौर नहीं किया। इसके बाद उन्होंने इस मामले की सारी जानकारी पुलिस को दी।

बच्चे को कराया शेल्टर होम में भर्ती 

पुलिस अधिकारी ने बताया है कि 9 मई को जब पुलिस मौके पर पहुंची तो बच्चे के माता-पिता बाहर गए हुए थे। लेकिन पुलिस ने बच्चे को घर के अंदर ही पाया। अधिकारी ने कहा, ‘बाल कल्याण समिति की मदद से उसी दिन लड़के को छुड़ा लिया गया और पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई।’ अधिकारी ने ये भी बताया कि लड़के के तौर-तरीके काफी हद तक कुत्तों से मिलते-जुलते हैं। उस बच्चें को फिलहाल शेल्टर होम में भर्ती कराया गया है। आगे की जांच फिलहाल जारी है।