Tomato Flu: सावधान! आपकी एक छोटी सी गलती भी पड़ सकती है भारी, टोमैटो फ्लू से बचने के लिए अपनाए ये तरीकें

Tomato Flu: सावधान! आपकी एक छोटी सी गलती भी पड़ सकती है भारी, टोमैटो फ्लू से बचने के लिए अपनाए ये तरीकें
-5264283304557104" crossorigin="anonymous">

भारत के दक्षिणी राज्य केरल के कोल्लम जिले में टोमैटो फीवर के बढ़ते मामले हर किसी को हैरान कर रहे है। 5 साल से कम उम्र के बच्चों को ये फीवर होता है। फिलहाल इस बुखार के होने की असल वजह तो पता नहीं चल पाई है, लेकिन इसको फैलने से रोकने की कोशिशें लगातार की जा रही है।

टोमैटो फ्लू ने बढ़ाई चिंता

हेल्थ डिपार्टमेंट इस रोग से बचाव के लिए जागरुकता अभियान चला रहा है ताकि ये बीमारी विकराल रूप न ले सके। आइए टोमैटो फीवर के बारे में विस्तार से जानते हैं। और जानते है कि आखिर इससे कैसे बचा जा सकता है।

क्या है टोमैटो फीवर?

टोमैटो फीवर एक तरह का फ्लू है जो छोटे बच्चों पर हमला करता है। हालांकि इसके असली कारणों का पता नहीं चल पाया है लेकिन कई एक्सपर्ट्स इसके पीछे डेंगू या चिकनगुनिया को वजह बताते हैं। इस तरह के फ्लू में बच्चों की स्किन पर लाल छाले हो जाते हैं, कई बार ये टमाटर के आकार का भी दिखने लगता है। यही कारण है कि इसे टोमैटो फीवर कहा जाता है। भले ही ये बीमारी केरल में ही अपना कहर ढा रही है, लेकिन फिलहाल दूसरे राज्यों को भी इससे अलर्ट रहने की जरूरत है।

कभी न करें ऐसी गलती

टोमेटो फ्लू एक संक्रामक बीमारी हो जो छूने से फैलती है, इसलिए अगर आपके आसपास कोई इस बीमारी से पीड़ित शख्स है तो उससे दूरी बना लें और खासकर बच्चों को पेशेंट के पास न आने दें। ये गलती आपके बच्चे को बेहद भारी पड़ सकती है।

टोमैटो फीवर के लक्षण

– स्किन पर लाल छाले

– स्किन में इरिटेशन

– जोड़ों में दर्द

– नाक बहना

– तेज बुखार

– पेट में ऐंठन

– उल्टी

– खांसी

– शरीर में दर्द

– छीकना

– दस्त

– थकान

कैसे बचें टोमैटो फीवर से ?

-अपने घर के अंदर और आसपास की सफाई जरूर रखें

-अगर बच्चे के शरीर पर लाल चकत्ते हो जाएं तो उन्हें इसे खुजलाने से रोकें

– संक्रमित मरीज से अपने बच्चों को दूर रखें और उनकी चीजें यूज करने से बचें

– गर्मी के मौसम में शरीर में पानी की कमी न होनें दें, फलों के जूस पिते रहें