सिणधरी सड़क हादसे में अपडेट: मालपुरा निवासी 7 बहनों के इकलौते भाई ने इलाज के दौरान तोड़ा दम, जिंदगी की जंग हार गया 4 साल का मासूम

सिणधरी सड़क हादसे में अपडेट: मालपुरा निवासी 7 बहनों के इकलौते भाई ने इलाज के दौरान तोड़ा दम, जिंदगी की जंग हार गया 4 साल का मासूम
-5264283304557104" crossorigin="anonymous">

संवाददाता- योगेश सोनी

बाड़मेर। कस्बे में चार दिन पहले हुए झकझोर कर देने वाले हादसे में सात बहिनों के इकलौते भाई ने शुक्रवार सुबह इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

बाड़मेर जिले के सिणधरी क्षेत्र में चार दिन पहले हुए सड़क हादसे में गुड़ामालानी क्षेत्र के मालपुरा निवासी खेताराम और उनकी पत्नी की मौत हो गई थी। वहीं चार वर्षीय पुत्र जसराज गंभीर रूप से घायल हो गया था। जिसका जोधपुर में करीब एक दर्जन डॉक्टरों की निगरानी में इलाज चल रहा था। शुक्रवार सुबह के समय दु:खद खबर सुनने को मिली। कल तक हॉस्पिटल में बार बार मां के पास जाने की जिद्द कर रहा, रोते हुए कह रहा है मां के पास जाना है। वो मासूम जसराज आज शुक्रवार को जिंदगी की जंग से हार गया।

यह था मामला

दरअसल, 13 नंवबर को मालपुरा गांव निवासी खेताराम (50) पुत्र राणाराम अपनी पत्नी कोकू देवी (43), पुत्र जसराज (4), चेचेरे भाई बादराराम (50) पुत्र वीराराम और उसकी पत्नी अणसीदेवी (45) के साथ सिणधरी के पास के गांव में बड़ी लड़की के लिए रिश्ते की बात करने के लिए जा रहे थे। सिणधरी कस्बे में उतरकर बस स्टेंड की तरफ जाने लगे तभी पीछे से अनियंत्रित बोलेरो गाड़ी ने पांचों सहित यशवंत कुमार (25) पुत्र गौतम निवासी उदयपुर को कूचल दिया। खड़ी कैंपर ट्रॉले को 20-25 फीट तक घसीटते हुए ले गया। गाड़ी कैंपर ट्रॉले से टकराकर रुक गई। अणसी देवी और कोकूदेवी की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, कोकूदेवी के पति खेताराम के सिर में चोट लगने से गंभीर घायल हो गया था। नाहटा हॉस्पिटल बालोतरा में खेताराम ने दम तोड़ दिया। वहीं 4 साल के बच्चे जसराज, बादराराम और एलडीसी यशवंत कुमार को प्राथमिक उपचार के बाद जोधपुर रेफर कर दिया। जिसमें आज शुक्रवार को 4 साल के मासूम जसराज ने दम तोड़ दिया। वहीं बादराराम और एलडीसी यशवंत कुमार का इलाज जारी है।