मां काली को लेकर महुआ मोइत्रा की टिप्पणी पर मचा बवाल, BJP ने की गिरफ्तारी की मांग

मां काली को लेकर महुआ मोइत्रा की टिप्पणी पर मचा बवाल, BJP ने की गिरफ्तारी की मांग
-5264283304557104" crossorigin="anonymous">

मां काली के सिगरेट पीते हुए पोस्टर पर विवाद अब बढ़ता ही जा रहा है। जिसके बाद टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने इस पोस्टर के सपोर्ट में बयान देकर अपनी मुसीबतें बढ़ा ली हैं। मोइत्रा की टिप्पणी पर भाजपा ने भी तीखा रुख अपनाया है। दरअसल भाजपा ने टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा की देवी काली पर उनकी टिप्पणी करने के लिए गिरफ्तारी की मांग की है। टीएमसी ने भी मोइत्रा की टिप्पणी का समर्थन नहीं किया है। ये सारा विवाद तब शुरू हुआ जब फिल्म निर्माता लीना मणिमेकलाई ने सोशल मीडिया पर अपनी फिल्म ‘काली’ का पोस्टर शेयर किया। इस फिल्म के पोस्टर में देवी काली के रूप में तैयार की गई महिला को सिगरेट पीते हुए दिखाया गया है।

महुआ मोइत्रा ने क्या कहा?

देवी से जुड़ी फिल्म के पोस्टर के बारे में पूछे जाने पर टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने कहा था कि मां काली उनके लिए ‘मांस खाने वाली और शराब स्वीकार करने वाली देवी’ हैं। इस बयान के बाद जब विवाद गहरा गया तो उन्होंने ये स्पष्ट किया कि उन्होंने कभी किसी फिल्म या पोस्टर का समर्थन नहीं किया है या धूम्रपान शब्द का उल्लेख तक नहीं किया।

मोइत्रा ने किया भाजपा पर पलटवार

भाजपा के आरोपों का जवाब देते हुए मोइत्रा ने कहा कि मैं काली उपासक हूं। मैं किसी चीज से नहीं डरती हूं। इतना ही नहीं मोइत्रा ने टीएमसी से समर्थन न मिलने पर पार्टी  का आधिकारिक ट्विटर हैंडल भी अनफॉलो कर दिया है।

टीएमसी ने मोइत्रा की टिप्पणी से किया किनारा

मोइत्रा के ये टिप्पणी करने के बाद खुद उनकी पार्टी ने भी पल्ला झाड़ लिया है। टीएमसी सांसद सुखेंदु शेखर रॉय ने कहा है कि पार्टी महुआ मोइत्रा की देवी काली पर की गई टिप्पणी का समर्थन नहीं करती है। उनके द्वारा दिए गए बयान उनकी निजी राय हैं।