राजस्थान में फिर से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, जाने कब दस्तक देगा मानसून

राजस्थान में फिर से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, जाने कब दस्तक देगा मानसून
-5264283304557104" crossorigin="anonymous">

प्रदेश में भीषण गर्मी व उमस के सितम से हर कोई परेशान है। राज्य में पिछले 1 सप्ताह से दिन और रात के तापमान में लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है। बीते 24 घंटे में जहां दिन के तापमान में करीब 2 डिग्री तक की बढ़ोतरी दर्ज की गई। वहीं, रात के तापमान में भी करीब एक दर्जन जिलों में 1 से 2 डिग्री तक की बढ़ोतरी हुई है। बीते दिनों 48.1 डिग्री के साथ बाड़मेर में सबसे गर्म दिन दर्ज किया गया था। वहीं, 33.2 डिग्री के साथ राजधानी जयपुर में बीती रात सबसे गर्म रात दर्ज की गई है। बीते दिन प्रदेश के करीब सभी जिलों में दिन का तापमान 45 डिग्री से पार ही रहा।

रात में भी रही भीषण गर्मी

दिन में सूर्य की तपिश जहां लोगों को जमकर झुलसा रही है। वहीं, रात की उमस भी लोगों के पसीने छुड़ा रही है। प्रदेश के करीब सभी जिलों में दिन का तापमान 45 डिग्री के पार पहुंच गया है। वहीं, करीब आधा दर्जन जिलों में तो दिन का तापमान 47 डिग्री के पार भी पहुंच गया है। इसी के साथ ही रात की भीषण गर्मी भी लोगों के जमकर पसीने छुड़ा रही है। आपको बता दें बीती रात प्रदेश के करीब एक दर्जन जिलों में रात का तापमान 30 डिग्री से पार दर्ज किया गया। वहीं, प्रदेश के लगभग सभी जिलों में रात का तापमान 27 डिग्री से पार दर्ज किया गया। इसके साथ ही 33.2 डिग्री के साथ राजधानी जयपुर में बीती रात में सबसे गर्म रात रही।

प्रदेश में जारी है भीषण गर्मी और उमस का सितम 

मौसम विभाग ने जानकारी दी है कि पश्चिमी राजस्थान और आसपास के क्षेत्रों के ऊपरी वायुमंडलीय स्तरों में बने प्रतिचक्रवात तंत्र और वायुमंडल के निचले स्तरों में गर्म व शुष्क पश्चिमी हवाओं के प्रभाव से राज्य में तीव्र हीटवेव की परिस्थिति बनी हुई है। इसके साथ ही वर्तमान में चल रहे तीव्र हीटवेव का दौर अभी भी अगले 48 घंटों तक जारी रहने वाला है। इसके बाद तापमान में हल्की गिरावट होने की सम्भावना मानी जा रही है। साथ ही एक नए पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से 16 मई से अधिकतर स्थानों के तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट रहेगी। साथ ही कुछ इलाकों में झमाझम बारिश की संभावना भी जताई जा रही है। इसके साथ ही राज्य में अधिकतम तापमान 45 डिग्री से नीचे दर्ज होने और हीटवेव के दौर से 16 मई से राहत मिलने की संभावना है। वहीं, बीकानेर और जोधपुर संभाग के जिलों में 14, 15, 16 मई के दौरान तेज धूलभरी हवाएं जिनकी गति 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा रहने की संभावना मौसम विभाग ने जताई है।