गरीब परिवार के बालकों के सपनों को संजोएगा  जसोलधाम- रावल किशनसिंह जसोल

गरीब परिवार के बालकों के सपनों को संजोएगा  जसोलधाम- रावल किशनसिंह जसोल
-5264283304557104" crossorigin="anonymous">

संवाददाता- योगेश सोनी

गरीब परिवार के बालकों के सपनों को संजोएगा जसोलधाम- रावल किशनसिंह जसोल

अभाव के बीच राह में टूटते सपनो को साकार करने में होगा अहम योगदान

आजादी के अमृत महोत्सव पर जसोल धाम की अनूठी पहल, करेंगे सपने साकार

जसोल। जहां देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा हैं। चहुंओर देशभक्ति व युवाओं को आगे लाने हेतु अनेकों कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। उसी कड़ी में श्री राणी भटियाणी मन्दिर संस्थान द्वारा गरीब व वंचित परिवार के होनहारों को आगे लाने का संकल्प लेते हुए एक योजना की शुरुआत की गई। जिसके पोस्टर का विमोचन बुधवार को मन्दिर संस्थान अध्यक्ष रावल किशनसिंह जसोल, समाजसेवी गुलाब सिंह दाॅखा, मोहनसिंह बुड़ीवाड़ा, गुलाब सिंह डंडाली, लालसिंह असाड़ा, हनुवन्त सिंह नौसर व प्रबन्धन कमेटी सदस्यों के द्वारा किया गया। जिसका रजिस्ट्रेशन 10 अगस्त से 25 अगस्त तक किया जायेगा। रजिस्ट्रेशन फाॅर्म जसोल धाम सूचना केन्द्र व वेबसाईट www.jasoldham.org के माध्यम से उपलब्ध कराये जायेंगे।

इसकी पात्रता बीपीएल कार्ड धारक होने के साथ द्वितीय वर्ष काॅलेज का विद्यार्थी होना आवश्यक है। जिसमें मन्दिर संस्थान ने मालाणी व सिंवाची क्षेत्र के गरीब व वंचित परिवार (बीपीएल कार्ड धारक) के विद्यार्थियों के सपनों को साकार करने के उद्देश्य से सौ प्रतिशत छात्रवृति की योजना का आगाज किया जिसमें स्प्रिग बोर्ड एकेडमी जयपुर द्वारा की कोचिंग उपलब्ध करायी जायेगी। मन्दिर संस्थान ने गरीब परिवार के बालकों के आरएएस व आईएएस बनने के सपनों को साकार करने का कार्य आज श्रावण शुक्ल तेरस के शुभ पावन पर्व पर बैनर का विमोचन के साथ शुरु किया। हर कोई अपने बच्चों के बारे में सोचता है। लेकिन श्री राणी भटियाणी मन्दिर संस्थान ने उन बालकों के बारे में सोचा है जो कुछ कर गुजरने की चाह रखते है। मन्दिर संस्थान जो इस प्रकार का भाव लाया है और उनको स्प्रिंग बोर्ड के माध्यम से सुनहरे सपनों को साकार करने का निर्णय लिया है व अकल्पनीय है। मन्दिर संस्थान अध्यक्ष रावल किशनसिंह जसोल ने कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव प्रगतिशील भारत के 75 साल पूरे होने और इसके लोगों, संस्कृति और उपलब्धियों के गौरवशाली इतिहास का स्मरण करने तथा उसका उत्सव मनाने में हर व्यक्ति को व्यक्तिगत रुप से अपने आप से परिवर्तन कर सकारात्मकता के साथ सरकार की इस पहल में अहम कड़ी बनना है। उसी की सार्थकता को लेकर मन्दिर संस्थान जरूतमन्द बालकों को एक लक्ष्य के साथ आगे ले जाने का कार्य करेगा जिसमें मालाणी व सिवांची क्षेत्र के उन गरीब परिवारो के बालकों को उच्च शिक्षा का सपना साकार करायेगा जिससे वो अपना ही नहीं परिवार व क्षेत्र का नाम भी रोशन करेगा। उन्होंने कहा कि गरीब परिवारों के युवाओं को एक मंच पर जोड़ने और आगे लाने के लिए इस प्रकार का कार्य शिक्षा के क्षेत्र में किया जा रहा हैं।

इस दौरान संस्थान अध्यक्ष, प्रबन्धन कमेटी सदस्य व अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे।

यह रहेगी चयन प्रक्रिया व परीक्षा योजना

  • विद्यार्थियों का चयन प्रतियोगी परीक्षा व साक्षात्कार के माध्यम से किया जायेगा।
  • प्रश्न पत्र सामान्य ज्ञान आधारित होगा।
  • सभी प्रश्न वस्तुनिष्ठ प्रकार के होंगे।
  • प्रश्नों की संख्या 100 होगी। प्रत्येक प्रश्न 2 अंक का होगा।
  • नकारात्मक मार्किग नहीं होगी।
  • प्रश्न पत्र का माध्यम हिन्दी व अंग्रजी दोनो भाषा में होगा।
  • पाठयक्रम विवरण (सामान्य ज्ञान 10वीं स्तर)
  • राजस्थान का इतिहास एवं कला व संस्कृति
  • मारवाड़ का इतिहास एवं कला व संस्कृति
  • बाड़मेर की प्रमुख ऐतिहासिक घटनाएं, प्रमुख व्यक्तित्व एवं उनका सांस्कृतिक योगदान
  • बाड़मेर की भौगोलिक परिदृश्य तथा महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल
  • राजस्थान का भूगोल एवं राजव्यवस्था
  • भारत का इतिहास, भूगोल एवं राजव्यवस्था की सतही जानकारी
  • दैनिक जीवन में विज्ञान
  • सामान्य गणित व रीजनिंग
  • समसामयिक घटनाएं